अमरनाथ यात्रा 2019 का हुआ शुभारंभ; यहाँ पाएँ आवश्यक जानकारी!

बाबा बर्फानी के दर्शन हेतु इच्छुक भक्तगणों में ख़ुशी की लहर दौड़ पड़ी है।1 जुलाई से अमरनाथ यात्रा का दिव्य शुभारंभ हो चुका है। अमरनाथ यात्रा, भारत की प्रमुख तीर्थ यात्राओं में से एक है। इस दौरान देश के विभिन्न प्रांतों से श्रद्धालु, बाबा के दर्शन हेतु मीलों की यात्रा करते हैं। 46 दिवसीय यह यात्रा, 15 अगस्त को रक्षा बंधन के दिन विधि-विधान से संपन्न हो जाएगी।  

7,500 से अधिक तीर्थयात्री वार्षिक अमरनाथ यात्रा करने के लिए प्रस्थान कर चुके हैं। रविवार को कश्मीर घाटी के लिए 2,000 से अधिक तीर्थयात्रियों का पहला समूह रवाना होने के बाद 4,417 तीर्थयात्रियों का दूसरा समूह जम्मू से गुफा के लिए रवाना हुआ।

हेलिकॉप्टर व यात्रा का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन:

अमरनाथ यात्रा 2019 के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 1 अप्रैल व हेलिकॉप्टर की ऑनलाइन बुकिंग 1 मई से प्रारंभ हो चुकी हैं। जिन यात्रियों के पास हेलिकॉप्टर की टिकट है, उन्हें यात्रा के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं होगी। हेलिकॉप्टर से यात्रा के लिए उनके पास स्वास्थ्य प्रमाण पत्र होना चाहिए।यात्रीगण, श्राइन की आधिकारिक वेबसाइट http://www.shriamarnathjishrine.com पर जाकर ऑनलाइन बुकिंग कर सकते हैं।

Amarnath Yatra Helicopter

आयु सीमा एवं स्वास्थ्य प्रमाण पत्र: 

श्राइन बोर्ड द्वारा अमरनाथ यात्रा के लिए यात्रियों की निम्न व उच्च सीमा क्रमशः13 व 75 वर्ष निर्धारित की गई है। यात्रियों के पास 15 फरवरी, 2019 के बाद जारी स्वास्थ्य प्रमाण पत्र होना चाहिए। इसके अलावा, यात्रा मार्ग पर चिकित्सा प्रबंधों, स्वच्छता सुविधाओं व यात्रा मार्ग से कचरे को वैज्ञानिक तरीके से उठाने के भी प्रबंध किए गए हैं।

मिलेगा क्यूआर और बार कोड युक्त परमिट प्रपत्र:

श्राइन बोर्ड ने एक नई पहल के अंतर्गत क्यूआर और बार कोड युक्त यात्रा परिमट प्रपत्र की व्यवस्था शुरू की है। क्यूआर कोड को यात्रियों के डाटा बेस में उनके मोबाइल नंबर के साथ जोड़ा गया है। यात्रा प्रमाणपत्र के क्यूआर कोड को दोमेल व चंदनबाड़ी स्थित एक्सेस कंट्रोल गेट व अन्य शिविरों में स्कैन किया जाएगा। इससे रियल टाइम आधारित यात्रियों की गणना और निगरानी हो सकेगी।

कर रहें हैं ट्रिप की प्लानिंग? यहाँ टिकट बुक करें 

यात्रियों के लिए विशेष सुविधाएँ: 

श्राइन बोर्ड, अमरनाथ तीर्थयात्रियों के लिए बीमा करवाती है। इसके अंतर्गत दुर्घटनावश यात्रियों की मौत होने पर 1 लाख रुपए तक का बीमा होता है। इसके अलावा, सरकार द्वारा यात्रियों के लिए शेषनाग पंचतरणी में विशेष दुकानें खोली गई हैं, जहाँ यात्री कम कीमत पर राशन, लकड़ी, आदि खरीद सकते हैं। किराए पर ठहरने के लिए जगह-जगह पर टेंट एवं शिविर की व्यवस्था भी की गई है।

आपकी यात्रा मंगलमय हो! 

Share via