बस की यात्रा में ख़ास बात है, जब सब साथ-साथ हैं!

इंडिया में फैमिली ट्रिप का अपना अलग ही मज़ा है। मम्मी-पापा, भाई-बहन, फूफा-फूफी, ताऊ-ताई, चाचा-चाची और सारे दूर-पास के रिश्तेदार जब एक साथ ट्रैवल के लिए जाते हैं, तो माहौल बहुत ही ख़ुशनुमा हो जाता है।  

दशकों से फैमिली ट्रैवल का सबसे बेहतरीन साधन ‘बस’ रहा है। किफ़ायती होने के साथ-साथ सारे लोग बस में एक साथ गाते-झूमते यात्रा का आनंद उठा सकते हैं।  


सपरिवार बस यात्रा का खूबसूरत अनुभव आपको निम्नलिखित बस मार्गों पर ज़रूर मिलेगा:

1. मदुरै से कोडाइकनाल:
मंदिरों के शहर मदुरै से लगभग 115 कि.मी. की दूरी पर ‘कोडाइकनाल’ स्थित है। अगर आप दक्षिण भारत के निवासी हैं या वहाँ पर्यटन के उद्देश्य से गए हुए हैं, तो इस खूबसूरत मार्ग से यात्रा करते हुए बादलों की नगरी ‘कोडाइकनाल’ पहुँच सकते हैं।

2. देहरादून से नैनीताल:
घाटियों और पहाड़ियों से घिरा हुआ यह रास्ता, बच्चों से लेकर बूढ़ों तक सभी को रोमांचित कर देता है। 5 घंटे की इस यात्रा में हरियाली, नदियाँ और अपनों का संग, साथ गुज़रने वाले हर एक पल को यादगार बना देते हैं।

3.जयपुर से उदयपुर:
भई, गुलाबी शहर से झीलों के शहर तक की सपरिवार यात्रा की ख़ुशी तो सिर्फ़ बस के सफ़र में ही मिल सकती है। भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़ जैसे ऐतिहासिक शहरों से गुज़रते हुए जब आप उदयपुर पहुँचते हैं, तो लगता है आपने इतिहास की एक अपनी ही यात्रा कर ली है। रास्तों में पड़ने वाले लाजवाब इमारतों के पास रुककर फैमिली फ़ोटो लेने का ख़याल भी बहुत खूब है।

बस बुक करें

4.मैंगलोर से गोकर्ण:
कोंकण के तटवर्ती क्षेत्रों में समंदर की ठंडी हवाओं से बलखाते नारियल के पेड़ और अपनों के साथ बस में अंताक्षरी – इससे बढ़िया बस ट्रिप भला हो सकती है क्या?

5.मुंबई से गोवा:
यह रास्ता थोड़ा लंबा है पर प्रकृति की विविधताओं से भरपूर है। 9 से 10 घंटे की इस यात्रा में आप कोल्हापुर, बेलगाम जैसे सांस्कृतिक शहरों से होकर गुज़रते हैं। घाटियाँ, हरियाली और तटवर्ती इलाके – इस यात्रा के दरमियान आपको सभी कुछ देखने को मिलता है।

तो आप चाहे देश के किसी भी हिस्से में रहते हो, इस बार सपरिवार इन खूबसूरत जगहों तक की यात्रा बस मार्ग से अवश्य करें। एक अद्भुत अनुभव आपकी प्रतीक्षा में है।  

 

Share via